Wednesday, May 29, 2024
Vacancies

खान पान

भारत के प्राचीनतम समुदायों व आदिवासी जनजातीयों की पाक कला की आदतों के बारे में जानना-समझना चाहते हैं? द इंडियन ट्राइबल इसीलिए है। आम दिनों में भी आदिवासी जनजातीयों के लोग अत्यधिक स्वास्थ्यवर्धक और औषधीय गुणों से भरपूर व्यंजन खाना पसंद करते हैं। यहां आदिवासी समुदाय के अनूठे खान-पान, उसकी विविधता, स्वाद और बनाने के तरीकों के बारे में विस्तार से जानकारी मिलेगी।

कभी चखे हैं पूर्वोत्तर के ये स्वादिष्ट व्यंजन?

पूर्वोत्तर राज्यों में रहने वाली तमाम जनजातियां स्वादिष्ट और दिलचस्प व्यंजनों के लिए जानी जाती हैं। विशेष बात यह कि उनके ये अलग तरह के भोजन मुख्य रूप से स्थानीय स्तर पर पाई जाने वाली सामग्री से तैयार होते हैं। प्रोयाशी बरुआ लेकर आई हैं कुछ पसंदीदा रेसिपी। [...]

Read more

आदिवासियों का पसंदीदा पेय सल्फी पिया क्या?

महुआ छत्तीसगढ़ का पवित्र वृक्ष माना जाता है और इसकी शराब आदिवासी बहुल बस्तर की संस्कृति का अभिन्न हिस्सा है, लेकिन इसी प्रकार का एक और पेय सल्फी भी आदिवासी लोगों में खूब लोकप्रिय है। इस पेय के बारे में अधिक जानकारी लेकर आये हैं The Indian Tribal

Read more

मिठाई ही नहीं, सांप-बिच्छू के काटे की दवा भी

साधारण सी कंद से अनूठी स्वादिष्ट मिठाई तो बनती ही है, आदिवासी लोग इसका उपयोग सांप, गिलहरी या चूहे के काटने पर दवा के रूप में भी करते हैं। निरोज रंजन मिश्र बता रहे हैं इस कंदमूल के बारे में

Read more

अहा! पीढिय़ों से पसंदीदा मिठाई पीठा

त्योहारों, ख़ास कर, दुर्गा पूजा के समय पीठा आमतौर पर पूरे पश्चिम बंगाल, असम और ओडिशा में बनाया जाता है। लेकिन बंगाल के आदिवासी क्षेत्र जंगलमहल में यह थोड़ा अलग तरह से तैयार किया जाता है। इस जायकेदार मिठाई के बारे में अधिक जानकारी लेकर आई हैं एस. [...]

Read more

नए साल की पार्टी में लीजिए आदिवासी व्यंजनों का स्वाद

यदि आप क्रिसमस और नए साल के खुशनुमा माहौल में बाहर कुछ अलग हटकर खाने के शौकीन हैं तो रांची के कई विशेष रेस्तरां आपका इंतजार कर रहे हैं, जहां झारखंडी आदिवासी स्वाद की एक से बढक़र एक वैरायटी आपको मिलेगी। सुधीर कुमार मिश्रा ऐसे ही कुछ व्यंजनों [...]

Read more

आदिवासी परंपरा का एक अभिन्न हिस्सा है हँड़िया

आम धारणा के विपरीत हँड़िया केवल एक मादक पेय पदार्थ ही नहीं है। यह ऊर्जावर्धक भी है और आदिवासी समुदाय की परंपरा का हिस्सा भी है। पश्चिम बंगाल के जंगल महल क्षेत्र में हँड़िया के प्रचलन और इससे जुडी एक रोचक कहानी के बारे में बता रही हैं [...]

Read more

फिट रहने के लिए कैसा भोजन खाते हैं आदिवासी खिलाड़ी?

खिलाडिय़ों की उर्वर भूमि झारखंड कैसे-कैसे व्यंजनों और सब्जियों के जरिए अपने यहां की प्रतिभाओं का पोषण करती है, उन्हें स्फूर्ति देती है, बता रहे हैं सुधीर कुमार मिश्रा

Read more

क्या आप चखना चाहेंगे लाल चींटियों से बनी बस्तर की मशहूर चापड़ा चटनी?

छत्तीसगढ़ की लाल चींटी का स्वाद भले अब प्रसिद्ध हो रहा है, लेकिन कई राज्यों में यह लंबे समय से लोकप्रिय है। अभिजीत शुक्ला बता रहे हैं कि आदिवासी लोग सामान्य सर्दी, बुखार, पीलिया, आंतों की समस्याओं, खांसी को ठीक करने एवं भूख बढ़ाने के लिए चापड़ा चटनी [...]

Read more

असम की स्वादिष्ट मछली डिश

साग के साथ बनी मछली और चावल असम के मैदानी जनजातीय लोगों में पीढिय़ों से पसंदीदा भोजन रहा है। इस बारे में और ज्यादा जानकारी साझा कर रही हैं प्रोयशी बरुआ

Read more

In Numbers

705
Individual ethnic groups are notified as Scheduled Tribes as per Census 2011
srijan creative arts srijan creative arts srijan creative arts
ADVERTISEMENT